कुशीनगरःःपांच घरों में भीषण चोरी, चोर ले उड़े लाखों का समान, ग्रामीण भयभीत

सुनील कुमार तिवारी.
कुशीनगर ।कसया थानाक्षेत्र के गांव भठहीं बाबू व नकहनी में गुरूवार की रात चोरों ने पांच घरों में बारी-बारी से चोरी की भीषण घटना को अंजाम दिया। छः कीमती मोबाइल, 25 हजार रुपया नकद, हजारों रुपये कीमत का सामान एवं एक अपाची मोटर साइकिल चुरा ले गए। सभी घटनाआें में चोरी का तौर तरीका एक ही जैसा है। अनुमान लगाया जा रहा है कि चोरों के एक ही गिरोह ने सभी घटनाआें को अंजाम दिया है। एक ही रात घटित चोरी की पांच घटनाआें से क्षेत्र के गांवों में ग्रामीण भयभीत हैं। भठहीं बाबू गांव में अयोध्या गुप्ता के घर छत के रास्ते अंदर घुसे चोरों ने तीन कीमती मोबाइल, पांच हजार रुपया नकद, अटैची में रखा सोने का चैन चुरा लिए। इसी गांव में ठगई वर्मा के घर में पीछे से चोर घुसे हैं। एक मोबाइल और कुछ कीमती कपड़ा चोरी हुआ है। भोला मद्धेशिया के घर पहुंचे चोरों ने पाकेट में रखा पांच हजार रुपया चुरा लिया। दरवाजे पर खड़ी मोटर साइकिल का लाक तोड़ कर भागने का प्रयास कर ही रहे थे कि एक महिला जग गई। उसके शोर मचाने पर चोर फरार हो गए। महिला के अनुसार दो चोर मुंह बांधे हुए थे। इसी तरह नकहनी गांव में ग्राम प्रधान जितेंद्र राय के घर में घुसे चोर एक मोबाइल व 20 हजार रुपया नकद चुरा लिए। विवेक राय के गैरेज में रखी अपाची मोटर साइकिल लेकर चंपत हो गए। हल्का दारोगा गिरीश चंद पाठक ने बताया कि सभी घटनाआें की जानकारी है। जांच की जा रही है। चोर शीघ्र ही पकड़ लिए जाएंगे।


Popular posts
कुशीनगर :: भूमि के झगड़े को लेकर एक अधेड़ को पीटकर उतारा मौत के घाट, केस दर्ज, चार हिरासत में
रांची(झारखंड) :: दो पूर्व मंत्री,पूर्व सांसद समेत तीन अन्य लोग आदर्श आचार संहिता उल्लंघन के एक मामले में हुए बरी
Image
हजारीबाग :: अज्ञात ब्यक्ति ने महिला को मारी गोली, महिला गाम्भीर अवस्था मे घायल
कुशीनगर :: गोरखपुर -फैजाबाद खण्ड शिक्षक निर्वाचन क्षेत्रों की निर्वाचक नामावलियों के पुनरीक्षण हेतु दावे/आपत्तियां प्राप्त करने की निर्धारित अंतिम तिथि 26 दिसंबर 2019 को आगे बढाते हुए संशोधित कार्यक्रम किया गया निर्धारित
Image
कुशीनगर :: पडरौना बाईपास सड़क निर्माण कार्यों में होने वाले भ्रष्टाचार का जीता जागता उदाहरण है, जल्द डीएम से मिलकर कुशीनगर सिविल सोसाइटी भ्रष्टाचार के विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही का अनुरोध करेगा : गिरीशचन्द्र चतुर्वेदी
Image