कुशीनगर :: रिपोर्ट के बारे में पूछने गए गुण्डागर्दी करते हुए डाक्टर ने परिजन को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, मुकदमा नहीं हुआ दर्ज, पीड़ित हुआ न्याय से वंचित

::- डाक्टर पल्लवी सिंह अपने पति डॉ0 कमलेश वर्मा को किलकारी हॉस्पिटल से फोन करके बुला लिया ::- डॉ0 कमलेश वर्मा कुछ साथियों के साथ पहुंच कर परवेज को मारना पीटना शुरू कर दिया :: किलकारी हॉस्पिटल के नाम से बच्चों का हॉस्पिटल संचालित करते हैं डॉ0 कमलेश वर्मा ::- शिकायत पर पुलिस पहुंची और डॉ0 कमलेश को लेकर थाने ले आई लेकिन कुछ ही देर में छोड़ भी दिया, मुकदमा दर्ज नहीं हुआ।आदित्य प्रकाश श्रीवास्तव, कुशीनगर केसरी/केके न्यूज24, कुशीनगर। डॉक्टर को इस धरती पर भगवान की संज्ञा दी जाती है और दी भी क्यों ना जाए, एक डॉक्टर ही तो ऐसा है जो बुरी से बुरी परिस्थितियों में भी मौत से दो दो हाथ करके लोगों को जीवनदान देतें हैं लेकिन जब जीवन देने वाला ही अपना कर्तव्य भूल कर और घमंड में चूर होकर जब भक्षक बन जाए तो ऐसे पेशे से जुड़े लोगों से विश्वास उठ जाना लाजमी है।बता दें कि मामला जनपद कुशीनगर के पडरौना कस्बे का है जहां के एक प्रतिष्ठित डायग्नोस्टिक सेंटर परख पैथोलॉजी में परवेज आलम ने अपनी पत्नी का अल्ट्रा साउंड 11 अप्रैल 2020 को कराया जिसकी रिपोर्ट में दो महीने की प्रेगनेंसी दिखाई गई और रिपोर्ट के आधार पर मरीज का ट्रीटमेंट चलता रहा लेकिन एक महीने बाद 08 मई 2020 को जब मरीज की दुबारा तबीयत ज्यादा बिगड़ गई तो डॉक्टर ने दुबारा अल्ट्रासाउंड कराने के लिए सलाह दी। जब परवेज अपनी पत्नी का अल्ट्रासाउंड करने के लिए परख डायग्नोस्टिक सेंटर पर पहुंचे तो भीड़ अधिक होने के वजह से मरीज के अल्ट्रासाउंड का नंबर नहीं आया इसलिए परवेज ने अपनी पत्नी को कस्बे के ही दूसरे अल्ट्रासाउंड सेंटर शीतला डायग्नोस्टिक सेंटर में ले गए और जांच कराई लेकिन इस बार जांच रिपोर्ट चैकाने वाली आई, इस रिपोर्ट में किसी भी प्रेगनेंसी की पुष्टि नहीं हुई। डॉक्टर ने संदेह को समाप्त करने के दुबारा जांच किया जिसमें भी प्रेगनेंसी नेगेटिव मिली।परवेज ने बताया कि जब वो 9 मई 2020 को जब परख डायग्नोस्टिक सेंटर पर जांच रिपोर्ट लेकर यह पूछने के लिए पहुंचते है कि आप की रिपोर्ट गलत आ रही है तो परख डायग्नोस्टिक सेंटर की संचालिका पल्लवी सिंह ने परवेज के साथ अभद्रता शुरू कर दी और अपने पति डॉ0 कमलेश वर्मा जो कि कस्बे में ही किलकारी हॉस्पिटल के नाम से बच्चों का हॉस्पिटल संचालित करते है को फोन करके बुला लिया।डॉ0 कमलेश वर्मा ने परख डायग्नोस्टिक सेंटर जो कि किलकारी हॉस्पिटल से लगभग एक किलोमीटर की दूरी पर है वहां अपने कुछ साथियों के साथ पहुंच कर परवेज को मारना पीटना शुरू कर दिया और परवेज की सभी पुरानी रिपोर्टों को भी छीन लिया। डॉ0 कमलेश और उनके साथ आए लोगों की मार पीट से घबरा कर परवेज जब बाहर भागा तो डॉ कमलेश ने परख डायग्नोस्टिक के गेट पर खड़े गनमैन की बंदूक लेकर उसे बंदूक की बट से मार दिया जिससे परवेज बुरी तरह से घायल हो गया।परवेज ने कोतवाली पडरौना में लिखित शिकायत की, पुलिस भी पहुंची और डॉ0 कमलेश को लेकर थाने भी आई लेकिन कुछ ही देर में छोड़ भी दिया और अभी तक कोई भी कार्यवाही नहीं हुई। इस तरह की घटनाएं पहले भी हो चुकी लेकिन अपने रसूख के दम पर हर बार डॉक्टर शासन प्रशासन की आखों में धूल झोंक कर निकल जाता है। आखिरकार एक और पीड़ित न्याय से वंचित हो गया।


Popular posts
बेतिया(प.चं.) :: आंगनबाड़ी सेविका चयन में भारी घपला और बड़ा बाबू की धांधली भी आया सामने
Image
कुशीनगर :: भाजपा सरकार है किसान विरोधी, तीन बर्षो से नहीं बढ़े गन्ने के दाम : मनोज मोदनवाल
Image
बेतिया(प.चं.) :: मेघा सॉफ्टवेयर के माध्यम से अब होगा छात्र छात्रों का भुगतान : सहायक निदेशक
रांची(झारखंड) :: रंगदारी मांगने वाले पांडेय गिरोह का गुर्गा धराया, हथियार जब्‍त
Image
मिर्जापुर :: कोरोना जैसी वैश्विक महामारी की खात्मा के लिए पूर्व केंद्रीय मंत्री व सांसद ने भगवान बुद्ध से किया प्रार्थना, कार्यकर्ताओं ने अपने-अपने घर पर ही सादगी पूर्वक मनाया बुद्ध पूर्णिमा
Image