गोपालगंज :: रात में दूल्हे से रचाई शादी, सुबह विदाई होने से पहले आशिक के साथ दुल्हन हुई फुर्र

विजय कुमार शर्मा, बिहार, गोपालगंज। एक अजीबोगरीब घटना ने सबको हैरान कर दिया है. मामला गोपालगंज जिले का है। जहां रात में एक दुल्हन ने अपने दूल्हे से शादी रचाई, लेकिन सुबह विदाई होने से पहले ही वह अपने आशिक के साथ भाग निकली. ये कहानी थोड़ी फिल्मी है, लेकिन ये सच है कि अग्नि के सात फेरे लेकर सात जन्मों तक साथ निभाने का संकल्प लेनेवाली एक दुल्हन शादी रचाकर फरार हो गई।घटना गोपालगंज जिले के मांझा थाना इलाके की है। जहां शेख परसा गांव में एक दुल्हन ने चंद पलों में ही दूल्हे के अरमानों तोड़ दिया। दुल्हन ने शादी तो अपने दूल्हे से रचाई लेकिन विदाई से पहले वह अपने आशिक के साथ भाग गई. दुल्हन के पिता और मां को जब इस बात की जानकारी हुई तो उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। इधर, गांव में यह बात फैलते ही अफरा-तफरी मच गई। इस घटना की जानकारी दूल्हे पक्ष के लोगों ने पुलिस को दी। इसके साथ ही फौरन गांव के प्रबुद्ध लोगों की पंचायत बुलाई गई। पंचायत के डिसीजन पर पड़ोस की गरीब बेटी की शादी इंजीनियर दूल्हे के साथ करायी गई।


बताया जा रहा है कि बरात यूपी के कुशीनगर जिले से आई थी. तरेया सुजान थाने के भगवानपुर गांव के रहने वाले डॉ घनश्याम कुमार के इंजीनियर बेटे सुधीर कुमार की शादी मांझा थाने के शेखपरसा गांव में अमरनाथ प्रसाद की बेटी कुमारी मनोरमा के साथ हुई। शादी की रस्म पूरी होने के बाद की सुबह में विदाई की तैयारी चल रही थी। इधर, दुल्हन अपने आशिक के साथ फरार हो चुकी थी। इससे अंजान वर पक्ष दूल्हे के साथ गाड़ी लेकर दुल्हन की विदाई के लिए दरवाजे पर पहुंचे, जहां सन्नाटा पसरा हुआ था। वीडियोग्राफर को लेकर दूल्हा दुल्हन की विदाई के लिए घर में घुसे, तो पता चला कि दुल्हन अपने प्रेमी के साथ फरार हो चुकी थी।


Popular posts
कुशीनगर :: भूमि के झगड़े को लेकर एक अधेड़ को पीटकर उतारा मौत के घाट, केस दर्ज, चार हिरासत में
मोतिहारी :: डीएसपी दिनेश कुमार पांडेय ने बच्चों को दिया शिक्षा, पढ़ाया संस्कार और नैतिकता का पाठ
Image
कुशीनगर :: रिपोर्ट के बारे में पूछने गए गुण्डागर्दी करते हुए डाक्टर ने परिजन को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, मुकदमा नहीं हुआ दर्ज, पीड़ित हुआ न्याय से वंचित
Image
कुशीनगर :: गोरखपुर -फैजाबाद खण्ड शिक्षक निर्वाचन क्षेत्रों की निर्वाचक नामावलियों के पुनरीक्षण हेतु दावे/आपत्तियां प्राप्त करने की निर्धारित अंतिम तिथि 26 दिसंबर 2019 को आगे बढाते हुए संशोधित कार्यक्रम किया गया निर्धारित
Image
कुशीनगर :: पडरौना बाईपास सड़क निर्माण कार्यों में होने वाले भ्रष्टाचार का जीता जागता उदाहरण है, जल्द डीएम से मिलकर कुशीनगर सिविल सोसाइटी भ्रष्टाचार के विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही का अनुरोध करेगा : गिरीशचन्द्र चतुर्वेदी
Image