लखनऊ :: दुल्हन के घर पर २२ दिनों से रुकी है बारात, लाकडाउन के वजह से नहीं हो सकी विदाई, अब अधिकारी कर रहे हैं खातिरदारी

डेस्क, कुशीनगर केसरी, लखनऊ। लॉकडाउन के चलते अलीगढ़ एक बारात शादी के 22 दिन से ज्यादा समय हो जाने के बावजूद दुल्हन के घर पर ही रुकी हुई है। बारात में शामिल 15 लोग फंसे हुए हैं। दुल्हन के पिता मेजबानी करते-करते थक चुके हैं। उनके पास पैसे भी अब कम ही बचे हैं। रामनाथ महतो अपने बेटे विजय महतो की बारात लेकर अलीगढ़ के अतरौली आए थे। शादी 21 मार्च को हो गई थी और 'बारात' को 23 मार्च को झारखंड के लिए वापस रवाना होनी थी। इसी बीच 22 मार्च को 'जनता कर्फ्यू' और उसके बाद के लॉकडाउन ने इनकी यात्रा की योजनाओं को ताक पर रख दिया और बारात में आए 15 मेहमान तब से दुल्हन के घर पर ही रह रहे हैं।


दुल्हन के पिता नरपत राय ने कहा कि अब उन्हें दूल्हे और बारात की मेजबानी करना मुश्किल हो रहा है। उन्होंने कहा, जिला प्रशासन उन्हें जाने की अनुमति नहीं दे रहा है। हालांकि अधिकारी दोपहर के भोजन की व्यवस्था कर रहे हैं, लेकिन बारात के नाश्ते और रात के खाने का प्रबंध मुझे करना होता है। पंद्रह लोगों को दिन में दो बार खाना खिलाने के लिए जरूरी सामान जुटाना मुश्किल हो रहा है और पैसा भी खत्म हो रहे हैं। दूल्हे ने कहा,यह एक असामान्य स्थिति है। हम समस्या समझते हैं, लेकिन कुछ कर भी नहीं सकते। बारातियों में से एक ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि लॉकडाउन के कारण एक बारात के दुल्हन के घर पर सबसे लंबे समय तक रुकने का रिकॉर्ड गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड में दर्ज हो जाएगा।


Popular posts
बेतिया(प.चं.) :: टैंकर की ठोकर लगने से एक व्यक्ति की मौत, 2 जख्मी
बेतिया(प.चं.) :: महात्मा गांधी व कस्तूरबा गांधी की 150वीं जन्म शताब्दी पर राष्ट्रीय सद्भावना सम्मान से सम्मानित होंगे बाबूराम दुसाद
Image
कुशीनगर :: आर्केस्ट्रा डांस को लेकर मेले में दो पक्षों में हुआ बवाल , पुलिस ने भांजी लाठियां
Image
कुशीनगर :: भारत सरकार और कोर्ट के आदेश एवं सोसल डिस्टेंस की सरेआम धज्जिया उड़ाकर स्थानीय प्रशासन को दी जा रही है चुनौती, अधिकारी बने धृतराष्ट्र
Image
मिर्जापुर :: मुख्य विकास अधिकारी ने विकास भवन कार्यालय का किया निरीक्षण, कार्यालय का हस्ताक्षर बनाकर ही जाए फील्ड में दिया निर्देश