दिल्ली :: अब आर.टी.आई. के दायरे में मुख्य न्यायाधीश के दफ्तर भी लेकिन गोपनीयता रहेगी बरकरार

डेस्क कुशीनगर केसरी, दिल्ली। सूचना के अधिकार(आरटीआई) के दायरे में देश के प्रधान न्यायाधीश के दफ्तर को लाने के दिल्ली हाई कोर्ट के आदेश को चुनौती देने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया। जिसके अंतर्गत मुख्य न्यायाधीश का ऑफिस भी सूचना के अधिकार यानी आरटीआई के तहत आएगा। बता दें कि सीजेआई रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने यह फैसला सुनाया है। जिसमें जस्टिस एनवी रमना, जस्टिस डीवाई चंद्रचूड, जस्टिस दीपक गुप्ता व जस्टिस संजीव खन्ना शामिल थे।


गौरतलब है कि यह अपील 2010 में सुप्रीम कोर्ट के सेक्रेटरी जनरल व केंद्रीय सूचना अधिकारी ने हाई कोर्ट व केंद्रीय सूचना आयुक्त के आदेश के खिलाफ दायर की थी। हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने इसमें कुछ नियम भी जारी किए हैं। फैसले में कहा गया है कि मुख्य न्यायाधीश ऑफिस एक पब्लिक अथॉरिटी है, इसके तहत ये आरटीआई  के तहत आएगा लेकिन इस दौरान दफ्तर की गोपनीयता बरकरार रहेगी।



Popular posts
मोतिहारी :: डीएसपी दिनेश कुमार पांडेय ने बच्चों को दिया शिक्षा, पढ़ाया संस्कार और नैतिकता का पाठ
Image
कुशीनगर :: रिपोर्ट के बारे में पूछने गए गुण्डागर्दी करते हुए डाक्टर ने परिजन को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, मुकदमा नहीं हुआ दर्ज, पीड़ित हुआ न्याय से वंचित
Image
बेतिया(प.चं.) :: लौह पुरुष सरदार बल्लभ भाई पटेल एवं आयरन लेडी इंदिरा गांधी को याद करते हुए किया गया भव्य कार्यक्रम का आयोजन
Image
कुशीनगर :: गोरखपुर -फैजाबाद खण्ड शिक्षक निर्वाचन क्षेत्रों की निर्वाचक नामावलियों के पुनरीक्षण हेतु दावे/आपत्तियां प्राप्त करने की निर्धारित अंतिम तिथि 26 दिसंबर 2019 को आगे बढाते हुए संशोधित कार्यक्रम किया गया निर्धारित
Image
छपरा :: डेंगू से बचाव को लेकर कार्यशाला का किया गया आयोजन
Image