पटना :: बालू घाटों की पुरानी बंदोबस्ती 31 अक्टूबर 2020 तक बढ़ी

विजय कुमार शर्मा, बिहार,पटना। बिहार में एक जनवरी से बालू खनन बंद होने की आशंका थी जो दूर हो गई है। बिहार सरकार ने बालू घाटों के पुराने बंदोबस्तधारियों के लीज की अवधि को 31 अक्तूबर, 2020 तक बढ़ा दिया है। वर्तमान लीज के शुल्क में 50 फीसदी की वृद्धि कर इसकी अवधि को विस्तारित करने पर सहमति दी गयी है।शुक्रवार को सीएम नीतीश कुमार की अध्यक्षता में राज्य कैबिनेट की हुई बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी दी गयी. कैबिनेट ने फैसला लिया कि अवधि का विस्तार 31 अक्तूबर, 2020 अथवा नये बंदोबस्तधारियों को पर्यावरण स्वीकृति जारी होने में जो भी पहले हो, उस अवधि तक शुल्क वृद्धि के साथ लीज की स्वीकृति दी गयी है।एनजीटी के कारण बालू खनन को लेकर समस्याएं उत्पन्न होते रहती है। कई घाटों पर एनजीटी के कारण बालू के खनन पर रोक लग जाती है। ऐसे में बिहार में बालू की किल्लत हो जाती है। सरकार ने इस बार बालू खनन की मियाद तो बढ़ा दी लेकिन 50% अतिरिक्त रकम लेने का फैसला किया है। बंदोबस्त धारकों से 50 फ़ीसदी की वृद्धि को लेने के कारण बालू की मौजूदा कीमतों में 50% तक की बढ़ोतरी होगी। निश्चित तौर पर कंस्ट्रक्शन सेक्टर इससे प्रभावित हो रहा है लेकिन फिर भी सरकार ने बालू की कीमतें बढ़ा दी है। अभी भी बिहार के सभी बालू घाटों से खनन नहीं हो पा रहा है, कई घाटों पर अभी भी रोक है।


Popular posts
बेतिया(प.चं.) :: विश्व शांति दूतों का हुआ अंतराष्ट्रीय सम्मेलन
Image
कुशीनगर :: भारत सरकार और कोर्ट के आदेश एवं सोसल डिस्टेंस की सरेआम धज्जिया उड़ाकर स्थानीय प्रशासन को दी जा रही है चुनौती, अधिकारी बने धृतराष्ट्र
Image
कुशीनगर :: गोरखपुर -फैजाबाद खण्ड शिक्षक निर्वाचन क्षेत्रों की निर्वाचक नामावलियों के पुनरीक्षण हेतु दावे/आपत्तियां प्राप्त करने की निर्धारित अंतिम तिथि 26 दिसंबर 2019 को आगे बढाते हुए संशोधित कार्यक्रम किया गया निर्धारित
Image
कुशीनगर :: आयुक्त गोरखपुर मंडल ने कहा कि अयोध्या फैसले पर आपसी सौहार्द बनना नैतिक जिम्मेदारी
Image
पटना :: अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाएंगे हाई और प्लस 2 स्कूलों के शिक्षक