छपरा :: किसी भी आपात स्थिति से निपटने को तैयार है स्वास्थ्य विभाग : सिविल सर्जन

• मानव श्रृंखला को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने बनाया माइक्रो प्लान, सीएस ने की समीक्षा बैठक • सभी चिकित्सा पदाधिकारियों को दिये आवश्यक निर्देश • प्रत्येक एक किलोमीटर पर तैनात रहेगी मेडिकल टीम • अस्पतालों में उपलब्ध कराये गये जरूरी दवाएं।
विजय कुमार शर्मा बिहार, छपरा। आगामी 19 जनवरी को जल-जीवन हरियाली अभियान के समर्थन में बनने वाले मानव श्रृंखला को लेकर स्वास्थ्य विभाग की ओर से तैयारी पूरी कर ली गयी। इसको लेकर सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा की अध्यक्षता में जिला स्वास्थ्य समिति के सभागार में समीक्षा बैठक की गयी। बैठक में मानव श्रृंखला को लेकर माइक्रोप्लान तैयार किया गया।
इस अवसर पर सीएस डॉ. माधवेश्वर झा ने कहा मानव श्रृंखला के दौरान किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से तैयार है। विभाग की ओर तैयारी पूरी कर ली गयी है।जिले के सभी सरकारी अस्पतालों में जीवन रक्षक दवाओं समेत अन्य जरूरी दवा उपलब्ध करा दी गयी है। सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किये गये हैं। सिविल सर्जन डॉ. झा ने कहा मानव श्रृंखला के दौरान प्रत्येक एक किलोमीटर पर मेडिकल टीम को एम्बुलेंस व जरूरी दवाओं के साथ तैनात किया जायेगा। सभी को निर्देशित किया गया है कि इस दौरान सभी अपना मोबाईल ऑन रखेंगे। कहीं से भी किसी तरह से कॉल आने पर तुरंत एम्बुलेंस वहां पहुंचेगी। मोबाइल टीम का भी गठन किया गया है। मानव श्रृंखला के दौरान मोबाइल मेडिकल टीम व आरबीएसके की टीम क्षेत्र में सक्रिय रूप से काम करेगी।
डीएमओ डॉ. दिलीप कुमार सिंह ने कहा मानव श्रृंखला के दौरान प्रत्येक 25 से 30 लोगों के बीच में एक आशा एएनएम या आशा फैसलिटेटर को तैनात किया जायेगा। उनके पास जरूरी दवाएं उपलब्ध रहेंगे। ताकि लोगों में डर की स्थिति पैदा न हो, कहीं किसी तरह की घटना होने पर वहां तुरंत एएनएम या आशा पहुंचकर उनका देखभाल करेंगी तथा नजदीक अस्पताल में भर्ती कराया जायेगा।
डीपीएम अरविन्द कुमार ने सभी बीएचएम को निर्देश दिया कि इस दौरान सभी चिकित्साकर्मी ड्रेस कोड में रहेंगे। ताकि लोग स्वास्थ्य कर्मियों की पहचान कर सकें। उन्होंने निर्देशित किया कि सभी लोग अपना-अपना आईकार्ड लगाकर जायेंगे। अस्पतालों भी चिकित्सक व कर्मी सक्रिय रूप से तैनात रहेंगे ताकि किसी भी स्थिति से निपटा जा सके। सभी चिकित्साकर्मियों को निर्देश दिया गया है कि इस दौरान कहीं भी किसी तरह की घटना होती है, तो इसकी सूचना तुरंत कंट्रोल रूम में या डीएम-सीएस को दें। ताकि समय रहते उस स्थिति से निपटा जा सके। अफवाहों से सावधान रहने की हिदायत भी दी गयी।
इस बैठक में सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा, डीएमओ डॉ. दिलीप कुमार सिंह, डीपीएम अरविन्द कुमार, डीपीसी रमेश चंद्र प्रसाद, डीएमएनई भानू शर्मा, डीसीएम ब्रजेंद्र कुमार सिंह, हेल्थ मैनेजर राजेश्वर प्रसाद, गौरव कुमार, मनोहर कुमार, प्रिंस राज, विनोद कुमार समेत सभी प्रखंडों के बीएचएम शामिल थे।


Popular posts
रांची(झारखंड) :: रंगदारी मांगने वाले पांडेय गिरोह का गुर्गा धराया, हथियार जब्‍त
Image
बेेतिया(प.चं.) :: राष्ट्रीय महिला दिवस पर याद कर महान स्वतंत्रता सेनानी सरोजिनी नायडू को दी गई भावभीनी श्रद्धांजलि
Image
गोरखपुर :: पूर्वी फेस्टिवल में वन टांगिया की आदिवासी महिलाएं वाक करेंगी : सोनिका
Image
कुशीनगर :: भाजपा सरकार है किसान विरोधी, तीन बर्षो से नहीं बढ़े गन्ने के दाम : मनोज मोदनवाल
Image
बेतिया(प.चं.) :: नियोजित शिक्षकों के प्रोन्नति एवं स्नातक प्रशिक्षित शिक्षकों के प्रधानाध्यापक पद पर प्रोन्नति का रास्ता साफ, TSUNSS गोपगुट ने जताया हर्ष