रांची :: भूख से बेहाल महिला ने खा लिया जिंदा कबूतर

विजय कुमार शर्मा/आदित्य प्रकाश श्रीवास्तव, रांची, झारखंड। भूख इंसान को कुछ भी खाने पर विवश कर देती है। झारखंड की राजधानी रांची के रिम्स परिसर में ऐसा ही वाकया देखने को मिला है। राज्य के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स के परिसर में बुधवार को मानवीय संवेदना तार-तार होती नजर आई. यहां ऑर्थोपेडिक विभाग के कॉरिडोर में भूख से बेहाल महिला को जब कुछ भी खाने को नहीं मिला तो उसने जिंदा कबूतर (Pigeon) को चबा लिया. इससे पहले वो कॉरिडोर में गुजर रहे लोगों से खाना मांगती रही, लेकिन किसी ने उस पर ध्यान नहीं दिया। यह महिला यहां इलाज के लिए लाई गई है, वो अपना नाम बताने की स्थिति में नहीं है।


इस बारे में रिम्स के निदेशक डॉ. डीके सिंह ने कहा कि सामाजिक संस्थाएं लावारिस लोगों को यहां लाकर छोड़ देती हैं. अस्पताल मानवीय संवेदना रखते हुए भी ऐसे मरीजों के लिए ज्यादा कुछ नहीं कर सकता।
बहरहाल, वैसे तो शहर में लोग रोज बचा हुआ खाना कूड़े में फेंक देते हैं, लेकिन जब वही खाना किसी को नसीब न हो तो कुछ ऐसी ही तस्वीर देखने को मिल सकती है. रिम्स निदेशक का कहना है कि मरीज रिम्स में लावारिश मरीज है, लेकिन इसे रिम्स में भर्ती नहीं किया गया है क्योंकि उसकी बीमारी का यहां इलाज नहीं होता. निदेशक का कहना है कि ये विक्षिप्त मरीज है और इसके इलाज की रिम्स में कोई व्यवस्था नहीं है।


महिला की मदद करने में लाचार नजर आए अस्पताल के निदेशक


लिहाजा, शायद इसी वजह से महिला को यहां एडमिट नहीं किया गया है. रिम्स निदेशक ने बताया कि इस तरह के मरीज से अस्पताल में सिर्फ अव्यवस्था ही फैलती है. वहीं इस मरीज के मदद को लेकर निदेशक पूरी तरह लाचार नजर आए।


Popular posts
कुशीनगर :: भूमि के झगड़े को लेकर एक अधेड़ को पीटकर उतारा मौत के घाट, केस दर्ज, चार हिरासत में
मोतिहारी :: डीएसपी दिनेश कुमार पांडेय ने बच्चों को दिया शिक्षा, पढ़ाया संस्कार और नैतिकता का पाठ
Image
कुशीनगर :: रिपोर्ट के बारे में पूछने गए गुण्डागर्दी करते हुए डाक्टर ने परिजन को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, मुकदमा नहीं हुआ दर्ज, पीड़ित हुआ न्याय से वंचित
Image
कुशीनगर :: गोरखपुर -फैजाबाद खण्ड शिक्षक निर्वाचन क्षेत्रों की निर्वाचक नामावलियों के पुनरीक्षण हेतु दावे/आपत्तियां प्राप्त करने की निर्धारित अंतिम तिथि 26 दिसंबर 2019 को आगे बढाते हुए संशोधित कार्यक्रम किया गया निर्धारित
Image
कुशीनगर :: पडरौना बाईपास सड़क निर्माण कार्यों में होने वाले भ्रष्टाचार का जीता जागता उदाहरण है, जल्द डीएम से मिलकर कुशीनगर सिविल सोसाइटी भ्रष्टाचार के विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही का अनुरोध करेगा : गिरीशचन्द्र चतुर्वेदी
Image