कुशीनगर :: लेखपाल अपनी आठ सूत्री मांगों को लेकर अड़े, धरना देकर निकाला कैंडि़ल मार्च

सुनील कुमार तिवारी, कुशीनगर केसरी, कुशीनगर। उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ प्रांतीय नेतृत्व के आह्वान पर जनपद के सभी तहसील मुख्यालय पर एक दिवसीय धरना दिया गया इसी क्रम में तहसील पडरौना के समस्त लेखपाल सुबह 10:00 बजे छावनी स्थित तहसील प्रांगण में उपस्थित हुए एवं शाम 4:00 बजे तक अपनी 8 सूत्री मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन किया धरना दे रहे लेखपाल संघ के पदाधिकारियों के नेतृत्व में समस्त लेखपालों ने उपजिलाधिकारी पडरौना को एक ज्ञापन सौंपा। तत्पश्चात समस्त लेखपाल तहसील पडरौना छावनी से एकजुट होकर निकले और गांधी प्रतिमा कट कुईया मोड़ तक कैंडल मार्च निकाला।


संघ के नेतृत्व में पूरे प्रदेश में लेखपाल अपनी मांगों को लेकर आंदोलित हैं लेकिन सरकार के पास उनकी 8 सूत्रीय मांगे अभी भी लंबित है। प्रमुख मांगों में वेतन विसंगति वेतन उच्चीकरण, पुरानी पेंशन बहाली राजस्व उप निरीक्षक नियमावली लागू किया जाना ,लेखपालों का नाम बदलकर राजस्व उपनिरीक्षक किया जाना किसान सम्मान निधि में प्रोत्साहन राशि के रूप में ₹18 प्रति खाते भुगतान भेजना सम्मिलित है। इस धरना व कैंडल मार्च में तहसील अध्यक्ष प्रदुम्न राव, तहसील मंत्री विवेक कुमार, पूर्व जिला मंत्री नीलेश रंजन राव ,जिला मंत्री वंश बहादुर यादव ,जिला मंत्री संजय पाल जिला कनिष्ठ उपाध्यक्ष शिवांगी मिश्रा  संतोष गुप्ता,देवेंद्र ,रंजीत, विक्रांत, राम अवध मैनेजर कुशवाहा, मनीष, संदीप सहित समस्त लेखपाल उपस्थित रहे साथ ही कैंडल मार्च में राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के जिला अध्यक्ष प्रभुनंद उपाध्याय सहित दिनेश यादव भी शामिल हुए।


Popular posts
कुशीनगर :: रिपोर्ट के बारे में पूछने गए गुण्डागर्दी करते हुए डाक्टर ने परिजन को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, मुकदमा नहीं हुआ दर्ज, पीड़ित हुआ न्याय से वंचित
Image
बेतिया(प.चं.) :: 71वी गणतंत्र दिवस पर लिया प्लास्टिक के बर्तनों के नहीं इस्तेमाल करने पर लिया गया संकल्प
Image
बेतिया(पश्चिम चंपारण) :: चोरों ने घर व साइकिल की दुकान का ताला तोड़कर लाखों के सामान उड़ाए, मुकदमा दर्ज
कुशीनगर :: भूमि के झगड़े को लेकर एक अधेड़ को पीटकर उतारा मौत के घाट, केस दर्ज, चार हिरासत में
बेतिया(पश्चिम चंपारण) :: महिला चिकित्सक व उनके कर्मी द्वारा पत्रकार के साथ किया गया दुर्व्यवहार, संघ से पत्रकार ने की विधि सम्मत कार्यवाही की लगाई गुहार