मुम्बई :: स्वरों के देवी स्वर कोकिला लता ने दुनिया को कहा अलविदा

डेस्क, कुशीनगर केसरी, मुंबई, महाराष्ट्र। देश में  सुरों की कोकिला कहे जाने वाले “ऐ मेरे बतन के लोगो जरा आंंख मे भर लो पानी” को स्वर देेेने वाली स्वर कोकिला लता मन्गेशकर आज दुनिया को अलविदा कह गई। लता मंगेशकर भारत की सबसे लोकप्रिय और आदरणीय गायिका थी, जिनका छ: दशकों का कार्यकाल उपलब्धियों से भरा पड़ा है।


हालाँकि लता जी ने लगभग तीस से ज्यादा भाषाओं में फ़िल्मी और गैर-फ़िल्मी गाने गाये हैं लेकिन उनकी पहचान भारतीय सिनेमा में एक पार्श्वगायक के रूप में रही है। उनको भारत रत्न, पद्म विभूषण, पद्म भूषण, दादा साहब फाल्के पुरस्कार से नवाजा जा चुका है लेकिन आज वह स्वर कोकिला इस जहां को अलविदा कह कर सुर के एक महान हस्ती को समाप्त कर गई।


Popular posts
मोतिहारी :: कुख्यात टुन्ना सिंह और राहुल सिंह की मोतिहारी कोर्ट में पेशी
बेतिया(पश्चिम चंपारण) :: चोरों ने घर व साइकिल की दुकान का ताला तोड़कर लाखों के सामान उड़ाए, मुकदमा दर्ज
कुशीनगर :: भूमि के झगड़े को लेकर एक अधेड़ को पीटकर उतारा मौत के घाट, केस दर्ज, चार हिरासत में
कुशीनगर :: रिपोर्ट के बारे में पूछने गए गुण्डागर्दी करते हुए डाक्टर ने परिजन को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, मुकदमा नहीं हुआ दर्ज, पीड़ित हुआ न्याय से वंचित
Image
बेतिया(पश्चिम चंपारण) :: महिला चिकित्सक व उनके कर्मी द्वारा पत्रकार के साथ किया गया दुर्व्यवहार, संघ से पत्रकार ने की विधि सम्मत कार्यवाही की लगाई गुहार