पटना :: कोर्ट की लगी मुहर तेजप्रताप की ओर से ऐश्वर्या को मिलेगा गुजारा भत्ता, राशि अभी सर्वाजनिक नहीं

विजय कुमार शर्मा  कुशीनगर केसरी, बिहार, पटना। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के बड़े पुत्र तेजप्रताप यादव की पत्नी ऐश्वर्या राय को भरण-पोषण के लिए अंतरिम गुजारा भत्ता मिलेगा। बाद में परिवारिक न्यायालय स्थायी गुजारा भत्ता तय करेगा। सूत्र बताते हैं कि ऐश्वर्या राय के आवेदन पर फैमिली कोर्ट ने शनिवार को यह आदेश कर दिया है। कोर्ट ने आदेश को सार्वजनिक नहीं किया कि तेज प्रताप को प्रतिमाह पत्नी को कितने रुपये गुजारा भत्ता के रूप में देने होंगे।


ऐश्वर्या ने अक्टूबर 2019 में अदालत में आवेदन देकर ससुराल में घरेलू हिंसा का आरोप लगाया था। अदालत में उन्होंने गुजारा भत्ता दिलाने और रहने के लिए एक आवास की सुविधा की मांग की थी। अंतरिम गुजारा भत्ता तय हो गया है। रहने के लिए आवास मामले पर भी विचार कोर्ट करेगा। यदि तेजप्रताप अपने आवास में पत्नी को नहीं रहने देते हैं, तब जिस किराए के मकान में वह रहेंगी, उसका किराया भी अदालत तेज प्रताप को देने का आदेश कर सकती है। आदेश में क्या-क्या है, यह सोमवार को पता चलेगा। अदालत में तेज प्रताप ने अपना वार्षिक आयकर रिटर्न में साल भर में दस लाख की आमदनी दिखाई गई थी।


गौरतलब है कि तेज प्रताप यादव व ऐश्‍वर्या राय के बीच तलाक का मुकदमा पिछले साल से ही चल रहा है। लगभग एक साल पहले दो नवंबर, 2019 को पटना सिविल कोर्ट में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने अपनी पत्नी एश्वर्या राय से तलाक की अर्जी दायर की थी, जिसमें उन्होंने उन पर कई गंभीर आरोप लगाए थे। कहा था कि वो अब किसी हाल में ऐश्वर्या राय के साथ नहीं रह सकते हैं। शादी के महज पांच महीने बाद ही तलाक की अर्जी का मामला सामने आया था। तेज प्रताप तलाक लेने को अडिग है। इतना ही नहीं, इसी सप्‍ताह सोमवार को राबड़ी आवास पर हाई फैमिली ड्रामा हुआ था। ऐश्‍वर्या ने राबड़ी देवी पर बाल खींचकर मारने का आरोप लगाया था और कहा था कि हमें घर से धक्‍का मारकर निकाल दिया गया है। मामला थाने तक पहुंच गया और फिर ऐश्‍वर्या ने राबड़ी देवी, तेज प्रताप यादव व मीसा भारती के खिलाफ घरेलू हिंसा का केस दर्ज किया था। बाद में राबड़ी की ओर से भी ऐश्‍वर्या के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज कराई गई थी। बता दें कि तेज प्रताप यादव की शादी ऐश्वर्या के साथ पिछले साल 12 मई को हुई थी। लेकिन शादी के पांच माह के अंदर ही दोनों के बीच तलाक की नौबत आ गई।


Popular posts
बेतिया(प.चं.) :: विश्व शांति दूतों का हुआ अंतराष्ट्रीय सम्मेलन
Image
कुशीनगर :: भारत सरकार और कोर्ट के आदेश एवं सोसल डिस्टेंस की सरेआम धज्जिया उड़ाकर स्थानीय प्रशासन को दी जा रही है चुनौती, अधिकारी बने धृतराष्ट्र
Image
कुशीनगर :: गोरखपुर -फैजाबाद खण्ड शिक्षक निर्वाचन क्षेत्रों की निर्वाचक नामावलियों के पुनरीक्षण हेतु दावे/आपत्तियां प्राप्त करने की निर्धारित अंतिम तिथि 26 दिसंबर 2019 को आगे बढाते हुए संशोधित कार्यक्रम किया गया निर्धारित
Image
कुशीनगर :: आयुक्त गोरखपुर मंडल ने कहा कि अयोध्या फैसले पर आपसी सौहार्द बनना नैतिक जिम्मेदारी
Image
सोनभद्र :: दूसरी बार सी आई.एस.एफ रिहंद ने गरीबो में किया अनाज वितरण
Image