पटना :: नीतीश कुमार को दोबारा मिली पार्टी की कमान

विजय कुमार शर्मा, कुशीनगर केसरी पटना, बिहार। बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार निर्विरोध जदयू के अध्यक्ष बने। रविवार को अपराह्न तीन बजे नाम वापसी का समय समाप्त होते ही हुई उनके निर्वाचन की घोषणा कर दी गई। दिल्‍ली में उनके प्रतिनिधि संजय गांधी ने जीत का प्रमाणपत्र किया। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार बिहार में बाढ़-जमाव और दुर्गापूजा के कारण नामांकन के समय भी दिल्‍ली नहीं जा सके थे और आज भी प्रमाण पत्र लेने नहीं जा सके। ऐसे में उनके प्रतिनिधि ने दिल्‍ली में नीतीश कुमार के बदले प्रमाण पत्र प्राप्‍त किया। इधर नीतीश कुमार के दोबारा राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष बनने पर पार्टी के नेताओं समेत एनडीए के लोगों ने बधाई दी है।


बता दें कि दो दिन पहले शुक्रवार को मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की ओर से दिल्ली में जंतर-मंतर स्थित जेडीयू के केंद्रीय कार्यालय में उनके प्रतिनिधि विधान पार्षद संजय कुमार सिंह उर्फ गांधी जी ने चार सेट में पार्टी के राष्ट्रीय निर्वाचन पदाधिकारी अनिल हेगड़े के समक्ष नामांकन पत्र दाखिल किया था। उनके अलावा किसी और ने नामांकन दाखिल नहीं किया। रविवार को अपराह्न तीन बजे तक नाम वापसी का अंतिम समय था। जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए नामांकन के बाद शनिवार को नामांकन पत्र की जांच हुई।


पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव संपन्न होने के बाद पार्टी के कार्यकर्ताओं के लिए अब प्रशिक्षण का कार्यक्रम आरंभ किया जाएगा। इस बार पार्टी ने तय किया है कि युवा कार्यकर्ताओं की टीम को पटना में प्रशिक्षण देकर उनके माध्यम से जिलों में प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन होगा। प्रशिक्षण में चुनाव को केंद्र में तो रखा ही जाएगा, साथ ही साथ सरकार द्वारा चलाए जा रहे सामाजिक अभियान के बारे में भी जेडीयू अपने कार्यकर्ताओं को विशेष रूप से बताएगा।


Popular posts
मिर्जापुर :: कोरोना जैसी वैश्विक महामारी की खात्मा के लिए पूर्व केंद्रीय मंत्री व सांसद ने भगवान बुद्ध से किया प्रार्थना, कार्यकर्ताओं ने अपने-अपने घर पर ही सादगी पूर्वक मनाया बुद्ध पूर्णिमा
Image
कुशीनगर :: बाल संरक्षण के प्रति 1098 पर दें जानकारी, लायें जागरूकता : डीएम
Image
पटना :: संपूर्ण टीकाकरण हीं निमोनिया से बचाव का एकमात्र तरीका
Image
रांची(झारखंड) :: रंगदारी मांगने वाले पांडेय गिरोह का गुर्गा धराया, हथियार जब्‍त
Image
कुशीनगर :: रिपोर्ट के बारे में पूछने गए गुण्डागर्दी करते हुए डाक्टर ने परिजन को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, मुकदमा नहीं हुआ दर्ज, पीड़ित हुआ न्याय से वंचित
Image